Friday, August 26, 2016

Hal to puch lu

हाल तो पूछ लू तेरा पर डरता हूँ आवाज़ से तेरी,
ज़ब ज़ब सुनी है कमबख्त मोहब्बत ही हुई है।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment