Monday, August 22, 2016

Ranhe de abhi gunjaishe

रहने दे अभी गुंजाइशें जरा अपनी बेरुखी में*...
*इतना ना तोड़ मुझे कि मैं किसी और से जुड़ जाऊँ*....💔✨ @...

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment