Wednesday, August 17, 2016

Yahsan kisi ka wo

एहसान किसी का वो रखते नही मेरा भी चूका दीये,,
जितना खाया था  नमक मेरा , मेरे जख्मो पर लगा दिये ...!!!

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment