Sunday, November 27, 2016

Hakikat kuch

हकीकत कुछ और ही होती है..
गुमसुम बैठा
इंसान पागल नही होता..!!!

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment