Thursday, February 23, 2017

जरा ठहर ऐ जिंदगी

जरा ठहर ऐ जिंदगी तुझे भी सुलझा दूंगा,

पहले उसे तो मना लूं जिसकी वजह से तू उलझी है ...!!!

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment