Wednesday, February 22, 2017

Kin lphajo me

किन लफ्जो मे बया करू दिल के दर्द  को ....
.
पढने वाले तो बहुत है , पर समझने वाला कोई नही ।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment