Wednesday, June 28, 2017

Sad shayari in hindi

बहुत जुदा है औरों से मेरे दर्द की कहानी,,
जख्म का कोई निशां नहीं और दर्द की कोई इंतहा नहीं......!!!

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment