Monday, October 30, 2017

bahut najdik se dekha hai

bahut najadik


बहुत नजदीक से देखा है दुनिया को,
तब ही तो दुर बैठा हूँ मैं सबसे..!!

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment