Sunday, October 1, 2017

jindgi hai do din ki


shyari for them


जिन्दगी है दो दिन की,कुछ भी न गिला कीजीए,
दवा,जहर,जाम,इश्क जो भी मिले चखा कीजीए..!!

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment